ताजा समाचार

कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए आगे आ रहे धर्मस्थल, ग्रीन पार्क मस्जिद में बनाया गया 10 बेड का कोविड केयर सेंटर

मजहब के नाम दिल्ली में दंगे भले हुए हों, लेकिन आज मंदिर और मस्जिद कोरोना महामारी से उपजी स्थिति के बीच मानवता के लिए आगे आने लगे हैं। राजधानी के ग्रीन पार्क स्थित मस्जिद ने मस्जिद परिसर के अंदर 10 बिस्तर का कोविड आइसोलेशन सेंटर बनाया है और यहां जल्द ही ऑक्सीजन और अन्य व्यवस्था शुरू होने वाली है। वहीं राजधानी के इस्कॉन मंदिर के ट्रस्ट के लोग न केवल राजधानी में कोरोना पीड़ित परिवारों को भोजन करा रहे हैं, बल्कि जल्द ही डीयू के दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज में 180 बेड का कोविड केयर सेंटर भी स्थापित करने जा रहे हैं।

ग्रीन पार्क मस्जिद की कमेटी के सदस्य इरफान वानी ने बताया कि यह आइसोलेशन सेंटर उनके लिए है, जो कोविड पॉजिटिव हैं और मॉडरेट स्थिति में हैं। ऐसे परिवार जिनमें कई लोग हैं वो न संक्रमित हो जाएं इसलिए वो यहां आकर रह सकते हैं। दवा, जरूरी मेडिकल सामान भी यहां हैं, लेकिन अभी ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं आ पाया है। मस्जिद में एम्स के कुछ डॉक्टर नमाज पढ़ने आते हैं वह अपने राउंड में इनकी स्थिति देख लेंगे।

वहीं डीयू के दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज में 180 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाने की तैयारी इस्कॉन मंदिर कर रहा है। इस्कॉन के नेशनल कम्युनिकेशन निदेशक बृजेंद्र नंदन दास ने बताया कि वर्तमान में इस्कॉन द्वारका-दिल्ली सरकार की मदद से डीडीयू कॉलेज के छात्रावास में एक कोविड केयर सेंटर भी स्थापित कर रहा है। यह केंद्र कोविड 19 से प्रभावित लोगों को नि:शुल्क बुनियादी इलाज प्रदान करेगा। केंद्र जल्द ही चालू होगा और कोविड 19 से प्रभावित लोग इससे लाभान्वित हो सकते हैं।

इस केंद्र में ऑक्सीजन के साथ 180 बेड होंगे। यहां पर डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ देखभाल के लिए मौजूद होंगी, ऑक्सीजन की पूरी सहायता, आवश्यक दवाएं,  पौष्टिक, स्वादिष्ट और प्रतिरक्षा बढ़ाने वाला भोजन उपलब्ध होगा और मरीजों को हाउस कीपिंग की सुविधा भी प्रदान कराई जाएगी। कोरोना के कारण लोगों को हो रही मानसिक परेशानी को ध्यान में रखते हुए इस केंद्र में कुछ काउंसलर भी लाए जाएंगे, जो लोगों की मानसिक शांति का ध्यान रख सकेंगे और इससे मरीजों को शीघ्र ठीक होने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि  यह केंद्र न केवल शारीरिक चिकित्सा बल्कि मानसिक चिकित्सा भी प्रदान करेगा जो इन कठिन समय के लिए बहुत अधिक आवश्यक है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: