ताजा समाचार

अडार पूनावाला ने बताया, क्यों है देश में वैक्सीन की किल्लत, कहा- रातोंरात नहीं बढ़ेगी सप्लाई

देश में कोरोना वैक्सीनेशन का अभियान धीमा होने और टीकों की कमी के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अडार पूनावाला ने भारत की बड़ी आबादी को जिम्मेदार ठहराया है। ट्विटर पर एक बयान शेयर करते हुए पूनावाला ने कहा कि बहुत सी गलत रिपोर्ट्स के बीच यह जरूरी था कि लोगों तक सही जानकारी पहुंचाई जाए। अडार पूनावाला ने अपने बयान में कहा है कि उनके कई स्टेटमेंट्स को गलत ढंग से पेश किया गया था। पूनावाला ने वैक्सीन की कमी को लेकर कहा, ‘पहली बात यह है कि टीकों की मैन्युफैक्चरिंग एक स्पेशलाइज्ड प्रोसेस है। ऐसे में इसे रातोंरात नहीं बढ़ाया जा सकता।’ पूनावाला ने कहा कि हमें यह समझने की जरूरत है कि भारत की आबादी बहुत अधिक है। 

ऐसे में सभी वयस्कों के लिए कोरोना वैक्सीन की मैन्युफैक्चरिंग करना आसान टास्क नहीं है। यहां तक कि हमारे मुकाबले काफी कम आबादी वाले देशों को भी टीकों की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा सरकार के साथ सामंजस्य कमजोर होने के आरोपों का भी पूनावाला ने जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि बीते साल अप्रैल से ही हम सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। हमें सरकार से हर तरह का सपोर्ट मिला है, चाहे वह वैज्ञानिक, नियम या फिर आर्थिक सहयोग की बात हो। सरकार की ओर से नए ऑर्डर न मिलने के सवाल का भी उन्होंने जवाब दिया है।

पूनावाला ने कहा, ‘अब तक हमें 26 करोड़ वैक्सीन डोज का ऑर्डर मिल चुका है। इसमें से हमारी ओर से अब तक 15 करोड़ डोज की सप्लाई की जा चुकी है। इसके अलावा अगली 11 करोड़ डोज के लिए सरकार की ओर से 1,732 करोड़ रुपये का अडवांस दिया जा चुका है। अगले कुछ महीनों में हमारी ओर से 11 करोड़ डोज की सप्लाई की जाएगी। इसके अलावा अगले कुछ महीनों में 11 करोड़ अतिरिक्त डोज की सप्लाई राज्यों और निजी अस्पतालों को हमारी ओर से की जाएगी।’ पूनावाला ने कहा कि हम सभी चाहते हैं कि वैक्सीन की सप्लाई जल्दी से हो सके। हमारी ओर से इसके लिए जमकर प्रयास किए जा रहे हैं। उम्मीद है कि हम जल्दी ही कोरोना के खिलाफ जंग में विजय हासिल करेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: