ताजा समाचार बिहार

Big News: बिहार पंचायत चुनाव को लेकर सुलझ गया बहुत बड़ा पेच, अब सिंगल पोस्ट EVM से ही होंगे इलेक्शन

बिहार में पंचायत चुनाव की 
तारीखों की जल्द होगी घोषणा.

बिहार में पंचायत चुनाव की
तारीखों की जल्द होगी घोषणा.

Bihar Panchyat Elections 2021: बिहार में पंचायत चुनाव कराने को लेकर हर पोलिंग बूथ पर 6 गुणा कंट्रोल यूनिट और बैलेट बॉक्स की आवश्यकता होगी. इसका आकलन कर राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा केंद्रीय निर्वाचन आयोग से सहायता ली जाएगी.

पटना. बिहार में पंचायत चुनाव के रास्ते का सबसे बड़ा रोड़ा हट गया है. केंद्रीय निर्वाचन आयोग और बिहार राज्य निर्वाचन आयोग में इस बात पर सहमति बन गई है कि प्रदेश में पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Election 2021) सिंगल पोस्ट EVM से होगा. मल्टी पोस्ट ईवीएम (MPE) से चुनाव करवाए जाने के विवाद के खात्मे के साथ ही एक बात स्पष्ट हो गई है कि अब पंचायत चुनाव में बेवजह अधिक देरी नहीं होगी और शीघ्र ही चुनाव की तारीखों की घोषणा की जा सकती है.

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेंद्र राम के अनुसार दोनों आयोगों के बीच लगातार दो दिनों तक हुई बैठक के बाद इस नतीजे पर पहुंचा गया और अब पंचायत चुनाव के लिए अन्य तैयारियां तेज कर दी गई हैं. हालांकि, अभी केंद्रीय निर्वाचन आयोग के साथ हुई बातचीत पर अब बिहार निर्वाचन आयोग के कमिश्नर की मुहर लगनी बाकी है. जैसे ही यह होगा वैसे ही चुनाव के कार्यक्रम सामने आने की उम्मीद है.

मिली जानकारी के अनुसार, राज्य निर्वाचन आयोग में अधिसूचना भी तैयार की जा रही है. बता दें कि पिछली बार वर्ष 2016 में 25 फरवरी को अधिसूचना जारी की गई थी. बता दें कि वर्तमान त्रिस्तरीय पंचायती राज का कार्यकाल 15 जून को खत्म होने जा रहा है. हालांकि, सरकार की ओर से जो जानकारी सामने आ रही है, उसके अनुसार तय वक्त से पहले पंचायत चुनाव की सभी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी.

आयोग के सूत्रों के अनुसार, पंचायत चुनाव के तहत 6 पदों के लिए चुनाव होने हैं. ऐसे में सिंगल पोस्ट कंट्रोल यूनिट और बैलेट यूनिट की अधिक संख्या में जरूरत होगी. लिहाजा पंचायत चुनाव कराने हर एक मतदान केंद्र पर छह गुणा कंट्रोल यूनिट और बैलेट बॉक्स की आवश्यकता होगी. हालांकि, केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने सिंगल पोस्ट ईवीएम की उपलब्धता को लेकर सहमति जताई है.बिहार राज्य निर्वाचन आयोग अब ईवीएम की आवश्यकता का आकलन करेगा और कई दिशाओं में इस मुद्दे पर फैसला लेगा. दूसरे राज्यों से आवश्यकता के अनुसार ईवीएम मंगाए जाने पर भी विचार किए जाएंगे. इसका आकलन कर राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा केंद्रीय निर्वाचन आयोग से आपूर्ति किए जाने को लेकर मदद ली जाएगी.

बता दें कि राज्य निर्वाचन आयोग मल्टी पोस्ट ईवीएम से पंचायत चुनाव कराना चाहता था, लेकिन भारत निर्वाचन आयोग इसके लिए सहमत नहीं था. हालांकि, हाई कोर्ट तक पहुंच चुका यह मामला जब दोनों आयोग की संयुक्त बैठक तक पहुंचा तो ईवीएम निर्माणकर्ता कंपनी हैदराबाद के इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने इसकी आपूर्ति समय पर करने से असमर्थता बताई. इसके बाद विवाद खत्म होने में देर नहीं लगी और बिहार में पंचायत चुनाव का रास्ता साफ हो गया.





Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: