ताजा समाचार बिहार

बिहार: पूर्वी और पश्चिमी चंपारण में बाढ़ से बढ़ी मुसीबत, सीएम नीतीश कुमार ने हवाई सर्वे कर हालात का लिया जायजा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: प्रशांत कुमार
Updated Tue, 06 Jul 2021 02:08 PM IST

सार

बिहार के कई हिस्सों में बारिश से बाढ़ का प्रकोप बढ़ गया है। लोगों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हालात का जायजा लिया।

सीएम नीतीश ने बाढ़ प्रभावति क्षेत्र का दौरा किया
– फोटो : ANI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

बिहार में भारी बारिश की वजह से बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं। बाढ़ के कारण लोग परेशान हैं। पूर्वी और पश्चिमी चंपारण में तो आसमानी आफत से जिंदगी बेहाल हो गई है। बाढ़ से लोगों को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हवाई सर्वे कर हालात का जायजा लिया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रभावित लोगों से हर संभव मदद करने का भरोसा दिया। गौरतलब है कि नेपाल से चार लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद बिहार के मोतिहारी, बेतिया समेत 11 जिलों में बाढ़ आ गई है। कई इलाकों में तो घरों में घुस गया है। क्षेत्रों में जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है। यहां की फसलें पूरी तरह से चौपट हो गई हैं। 


बिहार की नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही

बता दें कि बिहार में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है। साथ ही नेपाल की ओर से भारी मात्रा में पानी छोड़ा गया है, जिससे यहां की सभी नदियां उफान पर है। गंगा, गंडक, बूढ़ी गंडक, बागमती, कोसी, पुनपुन समेत कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। नदियों किनारे रहने वाले रहवासियों को ऊंचे स्थानों पर भेज दिया गया है। साथ ही लोगों से नदी किनारे नहीं जाने का निर्देश दिया गया है। राज्य में इस साल तय समय से पहले ही बाढ़ ने तबाही मचा रखी है। उत्तरी बिहार में बाढ़ का पानी कई जिलों में घुस गया है। 

Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply