ताजा समाचार बिहार

बिहार : नीतीश सरकार ने कोरोना संक्रमण के मद्देनजर पंचायत चुनावों को किया स्थगित

ख़बर सुनें

बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने मंगलवार को राज्य के पंचायती राज अधिनियम में संशोधन किया जिसके तहत कोविड-19 के कारण स्थगित किए गए इन ग्राम निकायों के नए चुनाव होने तक उनके कामकाज की निगरानी के लिए परामर्श समितियां गठित करने का रास्ता साफ हो गया।

बिहार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी के अनुसार, इस आशय के प्रस्ताव को मंगलवार को मंत्रिपरिषद की बैठक में मंजूरी मिल गई और राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद आगे के तौर-तरीकों पर फैसला किया जाएगा।

पंचायत निकायों का कार्यकाल अगले 15 जून को समाप्त होगा पर वर्तमान में राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए चुनाव को टाल दिया गया है। चौधरी ने संवाददाताओं से कहा, संशोधन की आवश्यकता इसलिए पड़ी क्योंकि पिछले अधिनियम में इस तरह के परिदृश्य के संबंध में कोई प्रावधान नहीं था जिसमें अप्रत्याशित स्थिति के कारण चुनाव स्थगित हो जाते हैं।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राजभवन से मंजूरी मिलने के बाद सरकार तय करेगी कि परामर्श समिति में कौन-कौन शामिल होंगे और कौन इसका नेतृत्व करेगा जो कि पंचायतों, जिला परिषदों और ग्राम कचहरी के कामकाज की देखरेख करेंगी।

बिहार में कोरोना वायरस से 59 लोगों की मौत, जांच का आंकड़ा तीन करोड़ के पार
बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान 59 और व्यक्तियों की मौत हो जाने से इससे मरने वालों की संख्या मंगलवार को बढ़कर 5222 तक पहुंच गई। वहीं, पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अब तक नमूनों की जांच का आंकड़ा तीन करोड़ के पार चला गया।

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 108347 नमूनों की जांच की गई जबकि पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अब तक प्रदेश में नमूनों की जांच का आंकड़ा मंगलवार को 30018943 पर पहुंच गया।

बिहार में सोमवार अपराह्न चार बजे से मंगलवार चार बजे तक कोरोना वायरस संक्रमण के जो 1174 नए मामले प्रकाश में आए हैं उनमें प्रदेश की राजधानी पटना में सबसे अधिक 132 प्रकाश में आए हैं।

पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अबतक बिहार में इससे संक्रमित होने वालों की संख्या 707935 पहुंच गई है, जिनमें से 688462 मरीज ठीक हुए हैं। इनमें पिछले 24 घंटे के भीतर ठीक हुए 3100 मरीज भी शामिल हैं। बिहार में वर्तमान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 14250 है और कोरोना मरीजों का रिकवरी प्रतिशत 97.25 है।

विस्तार

बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने मंगलवार को राज्य के पंचायती राज अधिनियम में संशोधन किया जिसके तहत कोविड-19 के कारण स्थगित किए गए इन ग्राम निकायों के नए चुनाव होने तक उनके कामकाज की निगरानी के लिए परामर्श समितियां गठित करने का रास्ता साफ हो गया।

बिहार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी के अनुसार, इस आशय के प्रस्ताव को मंगलवार को मंत्रिपरिषद की बैठक में मंजूरी मिल गई और राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद आगे के तौर-तरीकों पर फैसला किया जाएगा।

पंचायत निकायों का कार्यकाल अगले 15 जून को समाप्त होगा पर वर्तमान में राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए चुनाव को टाल दिया गया है। चौधरी ने संवाददाताओं से कहा, संशोधन की आवश्यकता इसलिए पड़ी क्योंकि पिछले अधिनियम में इस तरह के परिदृश्य के संबंध में कोई प्रावधान नहीं था जिसमें अप्रत्याशित स्थिति के कारण चुनाव स्थगित हो जाते हैं।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राजभवन से मंजूरी मिलने के बाद सरकार तय करेगी कि परामर्श समिति में कौन-कौन शामिल होंगे और कौन इसका नेतृत्व करेगा जो कि पंचायतों, जिला परिषदों और ग्राम कचहरी के कामकाज की देखरेख करेंगी।

बिहार में कोरोना वायरस से 59 लोगों की मौत, जांच का आंकड़ा तीन करोड़ के पार

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे के दौरान 59 और व्यक्तियों की मौत हो जाने से इससे मरने वालों की संख्या मंगलवार को बढ़कर 5222 तक पहुंच गई। वहीं, पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अब तक नमूनों की जांच का आंकड़ा तीन करोड़ के पार चला गया।

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 108347 नमूनों की जांच की गई जबकि पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अब तक प्रदेश में नमूनों की जांच का आंकड़ा मंगलवार को 30018943 पर पहुंच गया।

बिहार में सोमवार अपराह्न चार बजे से मंगलवार चार बजे तक कोरोना वायरस संक्रमण के जो 1174 नए मामले प्रकाश में आए हैं उनमें प्रदेश की राजधानी पटना में सबसे अधिक 132 प्रकाश में आए हैं।

पिछले साल कोरोना महामारी की शुरूआत होने से लेकर अबतक बिहार में इससे संक्रमित होने वालों की संख्या 707935 पहुंच गई है, जिनमें से 688462 मरीज ठीक हुए हैं। इनमें पिछले 24 घंटे के भीतर ठीक हुए 3100 मरीज भी शामिल हैं। बिहार में वर्तमान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 14250 है और कोरोना मरीजों का रिकवरी प्रतिशत 97.25 है।

Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: