ताजा समाचार मनोरंजन

टीआरपी में हेरफेर मामले की सीबीआई करेगी जांच, एजेंसी ने लखनऊ पुलिस से जांच का जिम्मा अपने हाथ में लिया

टीआरपी में हेरफेर के आरोपों पर एफआईआर दर्ज किए जाने के बाद सीबीआई ने लखनऊ पुलिस से जांच का जिम्मा अपने हाथ में ले लिया है। अधिकारियों ने मंगलवार को कहा सीबीआई ने उत्तर प्रदेश पुलिस के एक संदर्भ के आधार पर टेलीविज़न रेटिंग पॉइंट्स (टीआरपी) के कथित हेरफेर में एफआईआर दर्ज की है।

उन्होंने कहा कि यह मामला जो पहले एक विज्ञापन कंपनी के प्रमोटर की शिकायत पर लखनऊ के हजरतगंज पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया था, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सीबीआई को सौंप दिया गया।

उन्होंने कहा कि त्वरित कार्रवाई करते हुए, सीबीआई ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। उन्होंने कहा कि प्राथमिक आरोप एक भुगतान पर टीआरपी में हेरफेर से संबंधित हैं। सीबीआई अधिकारियों ने कोई और जानकारी देने से इनकार कर दिया।

बता दें कि टीआरपी या टेलीविज़न रेटिंग किसी चैनल या प्रोग्राम के पॉइंट्स का उपयोग विज्ञापन एजेंसियों द्वारा लोकप्रियता को मापने के लिए किया जाता है जो मूल्य निर्धारण को प्रभावित करते हैं।

भारत में ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) द्वारा “बार-ओ-मीटर” नामक देश के 45,000 से अधिक घरों में स्थापित डिवाइस का उपयोग करके डेटा की गणना की जाती है। उपकरण इन घरों के सदस्यों द्वारा देखे गए किसी प्रोग्राम या चैनल के बारे में डेटा एकत्र करता है जिसके आधार पर साप्ताहिक रेटिंग्स को बार्क द्वारा जारी किया जाता है।

हाल ही में, मुंबई पुलिस ने टीआरपी में हेरफेर का मामला दर्ज किया था जिसके बाद रेटिंग्स को बार्क द्वारा निलंबित कर दिया गया था।

Related Posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: