ताजा समाचार दुनिया देश

26/11 के दोषियों को कब तक बचाएगा पाकिस्तान? भारत ने किया सवाल

नई दिल्लीः भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद को दिए जा रहे बढ़ावे को उजागर किया है. एस. जयशंकर ने 26/11 हमले में पाकिस्तान की भूमिका का एक बार फिर जिक्र करते हुए कहा, इस मसले पर पूरे अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सहयोग की जरूरत है.

पाकिस्तान को बताया अहंकारी
विदेश मंत्री ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर कहा कि हमारे पड़ोसी मुल्क द्वारा सीमा पार आतंकवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है. उन्होंने कहा, पाकिस्तान आतंकवाद के मुद्दे पर कार्रवाई करना ही नहीं चाहता. मालूम हो कि पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी (FIA) ने हाल ही में यह बात स्वीकार कर ली है कि भारत में हुए 26/11 के हमले में पाकिस्तान के आतंकियों का हाथ था.

 

पाकिस्तान ने स्वीकारी 26/11 में शामिल होने की बात
पाकिस्तान ने यह बात स्वीकार कर ली है कि मुंबई स्थित होटल ताज पर हुए हमलों की साजिश को लश्कर के 11 आतंकियों ने अंजाम दिया था. 800 पेज की मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में उन आतंकियों के नामों का भी खुलासा हुआ है. 2008 में लश्कर-ए-तैयबा के 11 आतंकवादी मुंबई हमले में शामिल थे. ये आतंकवादी कराची से समुद्र के रास्ते मुंबई पहुंचे थे.

 

विदेश मंत्री ने बताया लक्ष्य
EAM ने कहा, अब धीरे-धीरे विश्व अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के वैश्विक स्वरूप से अवगत हो रहा है. हमारे अथक प्रयासों ने आतंकवाद के लिए साइबर भर्ती जैसे पहलुओं को सामने रखा है. हमारा लक्ष्य इसे व्यापक सम्मेलन तक लाना है और ऐसा होने तक हम आराम नहीं करेंगे. एस जयशंकर ने एफएटीएफ और वित्तीय टास्क फोर्स की तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘आतंकवाद पर STF और वित्तीय एक्शन टास्क फोर्स  ने हमारे प्रयासों में काफी योगदान दिया है.’

Related Posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: