ताजा समाचार बिहार

बिहार: शादी में चिकन के साथ लिट्टी नहीं मिली तो चलीं गोलियां, एक की मौत, तीन गंभीर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गोपालगंज
Published by: दीप्ति मिश्रा
Updated Sun, 09 May 2021 02:29 PM IST

सार

संकट के इस दौर में बिहार में चिकन के साथ लिट्टी नहीं परोसे जाने पर गोलियां चल गईं, जिसमें एक की जान चली गई और तीन की हालत गंभीर है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

दुनिया जब कोरोना वायरस के तबाही से जूझ रही है। न जाने कितनों के चिराग के बुझ गए तो न जाने कितनों के घर खाने के लाले पड़ गए। वहीं संकट के इस दौर में बिहार में चिकन के साथ लिट्टी नहीं परोसे जाने पर गोलियां चल गईं, जिसमें एक की जान चली गई और तीन की हालत गंभीर है।

बिहार के गोपालगंज जिले के उचकागांव थाना क्षेत्र के नरकटिया गांव में बारात में चिकन के साथ लिट्टी नहीं देने पर हुई गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन गंभीर रूप से घायल हो गए। मृतक की पहचान राजेंद्र सिंह के तौर पर हुई है, जबकि गोलीबारी में जख्मी राहुल कुमार सिंह, रिशु कुमार सिंह और रोहित कुमार सिंह को इलाज के लिए गोपालगंज सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार करने के बाद बेहतर इलाज के लिए उन्हें गोरखपुर रेफर कर दिया। इसके बाद परिवार के सदस्य तीनों जख्मी लोगों को इलाज के लिए गोपालगंज अस्पताल से गोरखपुर के लिए लेकर रवाना हो गए। 

जानकारी के मुताबिक, राजेंद्र सिंह के पड़ोस में एक बारात आई हुई थी। बारात में चिकन के साथ लिट्टी नहीं देने को लेकर विवाद शुरू हो गया। बात इतनी बढ़ गई कि गोलीबारी शुरू हो गई। गोलीबारी में राजेंद्र सिंह समेत चार लोगों को गोली लग गई। आनन फानन चारों को इलाज के लिए गोपालगंज सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने राजेंद्र सिंह को मृत घोषित कर दिया। जबकि तीन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। 

चिकित्सकों ने घायलों का एक्सरे कराने के लिए कहा, तो पता चला कि एक्स-रे कक्ष बंद था। इसके बाद परिवार के सदस्य व अन्य लोगों ने एक्सरे बंद होने को लेकर नाराजगी जताते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। वहीं सूचना मिलने के बाद नगर थाना की पुलिस सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में पहुंची और गुस्साए लोगों को शांत कराने की कोशिश की, लेकिन परिवार के सदस्यों का कहना था कि सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में न तो इलाज की व्यवस्था है और ना ही एक्सरे कि इसको लेकर परिवार के सदस्य व अन्य लोग हंगामा कर रहे थे। इसके बाद उन्हें समझा बुझाकर बेहतर इलाज के लिए गोरखपुर ट्रांसफर कर दिया।

उचकागांव थानाध्यक्ष अब्दुल मजीद ने बताया कि गोलीबारी की सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम मामले की छानबीन करने में जुट गई है। गोलीबारी में शामिल लोगों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। बारात में चिकन के साथ लिट्टी नहीं देने को लेकर हुई गोलीबारी के बाद अफरा-तफरी का माहौल उत्पन्न हो गया था। घटना के बाद से गांव में भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई थी।
 

विस्तार

दुनिया जब कोरोना वायरस के तबाही से जूझ रही है। न जाने कितनों के चिराग के बुझ गए तो न जाने कितनों के घर खाने के लाले पड़ गए। वहीं संकट के इस दौर में बिहार में चिकन के साथ लिट्टी नहीं परोसे जाने पर गोलियां चल गईं, जिसमें एक की जान चली गई और तीन की हालत गंभीर है।

बिहार के गोपालगंज जिले के उचकागांव थाना क्षेत्र के नरकटिया गांव में बारात में चिकन के साथ लिट्टी नहीं देने पर हुई गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन गंभीर रूप से घायल हो गए। मृतक की पहचान राजेंद्र सिंह के तौर पर हुई है, जबकि गोलीबारी में जख्मी राहुल कुमार सिंह, रिशु कुमार सिंह और रोहित कुमार सिंह को इलाज के लिए गोपालगंज सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार करने के बाद बेहतर इलाज के लिए उन्हें गोरखपुर रेफर कर दिया। इसके बाद परिवार के सदस्य तीनों जख्मी लोगों को इलाज के लिए गोपालगंज अस्पताल से गोरखपुर के लिए लेकर रवाना हो गए। 

जानकारी के मुताबिक, राजेंद्र सिंह के पड़ोस में एक बारात आई हुई थी। बारात में चिकन के साथ लिट्टी नहीं देने को लेकर विवाद शुरू हो गया। बात इतनी बढ़ गई कि गोलीबारी शुरू हो गई। गोलीबारी में राजेंद्र सिंह समेत चार लोगों को गोली लग गई। आनन फानन चारों को इलाज के लिए गोपालगंज सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने राजेंद्र सिंह को मृत घोषित कर दिया। जबकि तीन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। 


आगे पढ़ें

घायलों के परिजनों ने किया हंगामा

Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *