ताजा समाचार बिहार राजनीति

नीतीश और तेजस्वी में तीखी नोकझोक, कर गए सारी हदे पार

शुक्रवार को बिहार विधानसभा सत्र का आखिरी दिन था। और ये दिन हंगामे, तीखी नोकझोक और बहसों से भरा रहा। राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता विपक्ष और राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव के बीच काफी कहासुनी हुई। बहस इतना आगे बढ़ गया कि मामला तू-तड़ाक पर आ गया। जिसके बाद सीएम नीतीश तेजस्वी यादव पर जमकर बरसे। सदन को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि हम अब तक चुप थे। यह (तेजस्वी यादव) हमारे बेटे के समान हैं। इनके पिताजी (लालू प्रसाद) हमारी उम्र के हैं। सीएम ने नीतीश से पूछा कि तुमको डिप्टी सीएम किसने बनाया था? आप चार्जशीटेड हो, तुम क्या करते हो, हम सब जानते हैं।

दरअसल, राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान नीतीश कुमार पर तेजस्वी ने निजी टिप्पणी की थी। जिसके बाद सदन में जमकर हंगामा हुआ। तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपनी चुनावी सभाओं में लालू को 9 बच्चों की बात करते थे। कहते थे बेटी पर भरोसा नहीं था। बेटा के लिए 9 बच्चे हुए। क्या इन्हें लड़की पैदा होने का डर था, इसलिए इन्होंने दूसरा बच्चा नहीं पैदा किया? तेजस्वी ने यहां तक कह दिया कि मुख्यमंत्री को एक बेटे हैं, हैं भी की नहीं, पता नहीं। विवाद के बाद इसे सदन की कार्यवाही से हटा दिया गया है।

जिसके बाद तेजस्वी के आरोपों से नीतीश बौखलाते हुए एक-एक करके जवाब देने लगें। नीतीश कुमार ने सदन में बोलते हुए कहा कि हम अब तक चुप थे। यह हमारे बेटे के समान हैं। इनके पिताजी हमारी उम्र के हैं। ये झूठ बोलते हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि जो चार्जशीटेड हैं, वो हम पर सवाल उठा रहे हैं। मेरे खिलाफ हत्या के एक मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट लोग गए, लेकिन वहां से भी हार का सामना करना पड़ा। सीएम ने कहा कि नियमों का उल्लंघन कर काम नहीं होना चाहिए। सीएम नीतीश ने कहा एक वोट से भी जीत होती है और उसे जीत हीं कहेंगे। किसी को कोई परेशानी है तो कोर्ट जाए।

Related Posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: