ताजा समाचार देश बिहार राजनीति

7वीं बार शपथ के साथ ही उठा सवाल- क्‍या ‘बिहार केसरी’ का रिकॉर्ड तोड़ देंगे नीतीश कुमार?

पटना: बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री के तौर पर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सातवीं बार शपथ ले ली है. सातवीं बार मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने का रिकॉर्ड तो नीतीश के नाम दर्ज हो गया है लेकिन सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहने का रिकॉर्ड अभी बनना बाकी है.

श्रीकृष्ण सिंह के नाम दर्ज है रिकॉर्ड
सबसे लंबे समय तक बिहार का मुख्यमंत्री रहने का रिकॉर्ड राज्य के पहले मुख्यमंत्री रहे श्रीकृष्ण सिंह के नाम दर्ज है. श्रीकृष्ण सिंह इस पद पर 17 वर्ष 52 दिन तक रहे थे जबकि नीतीश कुमार इस पद पर अभी तक 14 वर्ष 82 दिन तक रह चुके हैं. सातवें कार्यकाल को वह पूरा करने से पहले ही इस रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं. नीतीश जैसे ही इसी कार्यकाल के 3 वर्ष 30 दिन पूरे करेंगे ‘बिहार केसरी’ कहे जाने वाले बिहार के पहले मुख्यमंत्री रहे श्रीकृष्ण सिंह का रिकॉर्ड तोड़ देंगे.

 

चार दशक से बिहार में दबदबा
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पिछले चार दशक से बिहार की राजनीति का केंद्र बने हुए हैं. नीतीश ने मुख्यमंत्री रहते हुए बिहार में शराबबंदी जैसा बड़ा निर्णय लिया. राजनीति की शुरुआत उन्होंने लालू प्रसाद के साथ रहकर की लेकिन वर्ष 2009 से भाजपा के साथ हैं. 2015 में आरजेडी के साथ मिलकर सरकार बना चुके हैं. हालांकि डेढ़ साल के अंदर ही उनका मोह भंग हो गया और फिर से भाजपा के साथ आए.

 

कब-कब मुख्यमंत्री बने नीतीश
1985 में पहली बार विधायक चुने गए नीतीश कुमार छह बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ले चुके हैं, यह उनका 7वां कार्यकाल होगा. पहली बार सन् 2000 में 3 से 10 मार्च तक वह सात दिनों के लिए मुख्यमंत्री बने. दूसरी बार 24 नवंबर 2005 से 24 नवंबर 2010 तक मुख्यमंत्री रहे. तीसरी बार 26 नवंबर 2010 से 17 मई 2014 तक राज्य की बागडोर संभाली. चौथी बार 22 फरवरी 2015 से 19 नवंबर 2015 तक उनकी सरकार रही. पांचवी बार 20 नवम्बर 2015 से 26 जुलाई 2017 तक और 27 जुलाई 2017 से अब तक उनका कार्यकाल रहा. आज (सोमवार) सातवीं बार उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है.

Related Posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: