ताजा समाचार बिहार

बिहार: कोरोना के नाम पर निजी अस्पतालों की मनमानी पर शिकंजा, पटना में चार अस्पतालों को नोटिस

कोरोना के नाम पर मनमानी कर रहे निजी अस्पतालों पर कार्रवाई.

कोरोना के नाम पर मनमानी कर रहे निजी अस्पतालों पर कार्रवाई.

Patna News: जिला प्रशासन के सूत्र बताते हैं कि अगर इन अस्पतालों की ओर से नोटिस का जवाब सही नहीं मिला, तो अस्पताल का रजिस्ट्रेशन रद्द हो सकता है.

पटना. कोरोना त्रासदी के बीच एक ओर जहां मानवीय पहलुओं को जीवंत करती बातें सामने आती हैं, वहीं कई ऐसे भी हैं जो इस आपदा को भी कमाई के अवसर के तौर पर देख रहे हैं. खास तौर पर राजधानी पटना में स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं में लगे कई अस्पताल व इनके कर्मी शामिल हैं. ऐसे ही तत्वों पर अब पटना जिला प्रशासन ने सख्त रुख कर लिया है. जिला प्रशासन ने इसी क्रम में पटना के चारअस्पतालों में  छापेमारी व पूछताछ की कार्रवा की. बगैर अनुमति के और मनमाने शुल्क वसूले जाने को लेकर आ रही शिकायतों पर ये कार्रवाई की गई है. पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने राजधानी के 3 अस्पतालों को नोटिस जारी कर दिया है. इसमें ओम पाटलिपुत्रा अस्पताल में बगैर अनुमति के कोविड मरीजों का दाखिला लिया गया था. इसी तरह बगैर अनुमति के कोविड मरीजों को भर्ती लेने के आरोप में ऑक्सीजन हॉस्पिटल को भी  नोटिस जारी किया गया है. जबकि मरीजों व उनके परिजनों से मनमाने ढंग से रुपये वसूलने के आरोपों के तहतपालिका विनायक अस्पताल को भी नोटिस जारी किया गया है. वहीं पटना के नामी राजेश्वर अस्पताल प्रबंधन से भी अनियमितता से संबंधित शिकायतों के बाद पूछताछ की गई है. बता दें कि इन निजी अस्पतालों से इलाज के नाम पर निर्धारित सीमा से अधिक राशि लेने, रेमिडसिविर दवा की उपलब्धता में गड़बड़ी करने, कोविड अस्पताल में पंजीकृत नहीं होने के बावजूद संक्रमितों को भर्ती कर रुपये ऐंठने, रुपये लेकर एडमिशन करने और ऑक्सीजन सिलिंडर न होने का हवाला देकर मरीज को डिस्चार्ज करने आदि की शिकायतें मिली थीं. इन शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए जिला प्रशासन की टीम ने चारों अस्पतालों की जांच की और नोटिस दिया गया है.

प्रशासन के सूत्र बताते हैं कि अगर इन अस्पतालों की ओर से नोटिस का जवाब सही नहीं मिला, तो अस्पताल का रजिस्ट्रेशन रद्द हो सकता है. डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने स्पष्ट कर दिया है कि किसी भी अस्पताल द्वारा मनमानी या गड़बड़ी करने की शिकायत मिलती है, तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. डीएम ने लोगों से अपील की है कि जिनको इलाज या किसी प्रकार की समस्या या शिकायत है, तो वहां तैनात मजिस्ट्रेट को शिकायत कर सकते हैं.





Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: