ताजा समाचार बिहार

विपक्षी विधायकों को विधानसभा में तेवर दिखा रहे थे डिप्टी CM, स्पीकर ने दी विभाग को सुधारने की नसीहत

बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद (फाइल फोटो)

Bihar Assembly: बिहार विधासभा के बजट सत्र के दौरान स्पीकर सत्ता और विपक्ष दोनों दलों के विधायकों के प्रति काफी सख्त है. उनकी इस सख्ती की बानगी सदन की कार्यवाही के दौरान बखूबी दिख रही थी.

पटना. बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में गुरुवार को एक अजीब नजारा देखने को मिला. विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा (Speaker Vijay Sinha) सरकार के डिप्टी सीएम पर ही सख्त होते दिखे. दरअसल विधानसभा में उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद (Deputy CM Tarkishore Prasad) के विभाग से सवाल सबसे ज्यादा पूछे जा रहे थे और कई बार तारकिशोर प्रसाद सवालों के जवाब में उलझते नजर आ रहे थे. वो सवाल पूछने वाले विधायकों को यह कह रहे थे कि मेरे जवाब से ज्यादा मेरे तेवर को समझिए.

बजट सत्र के बाद सभी मामलों की समीक्षा कर काम में और तेजी लाएंगे क्योंकि कई महत्वपूर्ण काम कोरोना के कारण नहीं हो सके हैं. उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद विधायकों को उनके तेवर देखने की बात कह ही रहे थे कि अचानक से विधानसभा अध्यक्ष ने उन्हें टोकते हुए कहा कि आपका तेवर सराहनीय है लेकिन यह तेवर अपने विभाग में भी दिखाइए क्योंकि महज 25 फ़ीसदी जवाब आपके विभाग में ऑनलाइन दिया है.

गुरुवार को जारी बजट सत्र के दौरान स्पीकर ने बिहार सरकार के कई मंत्रियों पर नाराजगी जाहिर की. यह पहली बार नहीं है जब विधानसभा अध्यक्ष को मंत्रियों की क्लास लेनी पड़ी हो. बजट सत्र के पहले दिन से ही विधानसभा अध्यक्ष सरकार के सभी मंत्रियों को विधानसभा में विधायकों के द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब ऑनलाइन देने की बात कहते रहे हैं लेकिन विधानसभा अध्यक्ष के बार-बार कहे जाने के बावजूद कुछ विभागों को छोड़कर बाकी विभाग अभी भी ऑनलाइन जवाब न देकर लिखित जवाब ही विधानसभा में देते हैं.

गुरुवार को ज्यादातर सवाल वित्त विभाग, नगर विकास विभाग, पथ निर्माण विभाग और भूमि राजस्व विभाग से संबंधित थे. मंत्री सभी सवालों का जबाब भी दे रहे थे लेकिन विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा की नाराजगी इस बात को लेकर थी कि बार-बार उनके कहे जाने के बावजूद मंत्री सावालों का जबाब ऑनलाइन अपने अपने विभाग से क्यों नहीं भेजते हैं, जबकि कई बार सभी को निर्देशित किया जा चुक है कि सभी मंत्री विधायकों द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब ऑनलाइन दें ताकि सदन के अंदर जब सवाल-जवाब हो रहा हो उस वक्त सिर्फ पूरक प्रश्न पूछे जाएं क्योंकि इससे समय की बचत होती है .




Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: