.wpmm-hide-mobile-menu{display:none}
ताजा समाचार

देश में वैक्सीनेशन की गति से PM मोदी संतुष्ट, अधिकारियों से कहा- टेस्टिंग अहम हथियार, धीमी ना हो रफ्तार

कोविड-19 से जारी जंग के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को देश में कोरोना वैक्सीन की स्थिति पर समीक्षा बैठक की। इस बैठक में प्रधानमंत्री कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा स्वास्थ्य सचिव और नीति आयोग (स्वास्थ्य), के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल भी मौजूद थे। जानकारी के मुताबिक इस बैठक में अधिकारियों ने देश में वैक्सीन को लेकर मौजूदा स्थिति को लेकर पीएम मोदी के सामने प्रजेन्टेशन दिया। प्रधानमंत्री को स्वास्थ्य कर्मचारियों, फ्रंटलाइन वर्क्स और आम आबादी को दी जा रही वैक्सीनेशन के बारे में जानकारी दी गई। 

अधिकारियों ने आने वाले महीनों में वैक्सीन सप्लाई और प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए किये जा रहे कार्यों से अवगत कराया। प्रधानमंत्री को बताया गया है कि पिछले 6 दिनों में 3.77 करोड़ वैक्सीन के डोज दिये गये हैं। यह मलेशिया, सऊदी अरब और कनाडा जैसे देशों के कुल आबादी से भी ज्यादा है। अधिकारियों ने समीक्षा बैठक में प्रधानमंत्री को बताया है कि हम टीकाकरण को लोगों तक पहुंचाने के लिए नवीन तरीकों का पता लगाने और उन्हें लागू करने के लिए राज्य सरकारों के संपर्क में हैं। 

इस बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविन मंच के रूप में भारत की समृद्ध तकनीकी विशेषज्ञता के साथ सभी देशों की मदद करने का प्रयास किया जाना चाहिए। पीएमओ की तरफ से बताया गया है कि देश के 128 जिलों में 45 से अधिक उम्र की 50 प्रतिशत अबादी को वैक्सीन दी गई है। इसके अलावा 16 जिलों में 45 से ज्यादा के उम्र के 90 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है। पीएम मोदी ने देश में वैक्सीन की गति को लेकर संतुष्टि जताई है और अधिकारियों को निर्देश दिया है कि इस गति को आगे भी बरकरार रखने की जरुरत है। 

इस बैठक में पीएम मोदी ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वो विभिन्न राज्यों में टेस्टिंग की गति को बरकरार रखें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि संक्रमण का पता लगाने में सबसे प्रमुख हथियार है लिहाजा किसी भी कीमत पर राज्यों में टेस्टिंग की गति धीमी ना होने पाए। 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: