ताजा समाचार बिहार

पटना: शिक्षक अभ्यर्थियों पर पुलिस ने बरसाईं लाठियां, तेजस्वी ने नीतीश को बताया तानाशाह

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना
Published by: प्रशांत कुमार
Updated Tue, 29 Jun 2021 01:52 PM IST

सार

पटना में नौकरी मांगने गए अभ्यर्थियों पर पुलिस ने जमकर लाठीचार्ज किया। पुलिस ने छात्रों को दौड़ दौड़कर सड़कों पर पीटा। अभ्यर्थी शिक्षा मंत्री के घर का घेराव करने जा रहे थे। नेताप्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सरकार पर निशाना साधा है। 

पुलिस ने किया लाठीचार्ज
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

बिहार की राजधानी पटना में शिक्षक नियुक्ति की मांग को लेकर सैकड़ों अभ्यर्थियों ने शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव किया। बिहार में शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी एसटीईटी (STET) पास करने वाले उम्मीदवार अपनी नियुक्ति और अन्य मांगों को लेकर मंगलवार को भारी संख्या में शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव करने सड़कों पर उतरे। जब पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की तो वह नहीं माने, उसके बाद पुलिस ने अभ्यर्थियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। अभ्यर्थी जैसे ही शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी के आवास की ओर बढ़ रहे थे कि उसी दौरान सचिवालय के पास पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। इसमें कई छात्र घायल हो गए। इस मामले पर राजनीति भी शुरू हो गई है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने लाठीचार्ज का विरोध किया है। वहीं शिक्षा मंत्री ने तेजस्वी के बयान पर पलटवार किया है। 

तेजस्वी ने नीतीश पर साधा निशाना
तेजस्वी यादव ने उम्मीदवारों पर हुए लाठीचार्ज की घटना की निंदा की। साथ ही नीतीश कुमार पर निशाना साधा। तेजस्वी ने कहा कि यह लाठी वाली सरकार है जो छात्रों के खिलाफ तानाशाही रवैया अपना रही है।  यह सरकार युवाओं का जीवन बर्बाद करने में जुटी है। तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर कई आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को लोगों से कोई लेना देना नहीं है, सिर्फ वह अपना देख रहे हैं। यही कारण है कि युवा जब अपना अधिकार मांग रहे हैं तो उन पर डंडा चलाया जा रहा है और नीतीश कुमार भीष्म पितामह बनकर बैठे हुए हैं।

शिक्षा मंत्री ने विपक्ष पर बोला हमला
तेजस्वी यादव के बयान के तुरंत बाद बिहार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने चुप्पी तोड़ी। शिक्षा मंत्री ने विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि बिहार में एसटीईटी अभ्यर्थियों को कुछ लोग गुमराह कर रहे हैं, जबकि यह पहले ही बताया गया है कि उनकी पात्रता हमेशा के लिए बरकरार रहेगी।  शिक्षा मंत्री ने कहा कि एसटीईटी की परीक्षा जितने छात्रों ने पास की है वो शिक्षक बनने के लिए अधिकृत हैं। उन्होंने कहा कि जो मेरिट लिस्ट निकाला गया है वह पात्रता का मेरिट लिस्ट था ना की नियुक्ति की। शिक्षा मंत्री ने अभ्यर्थियों से अपील की कि वह किसी भी तरह के बहकावे में नहीं आएं। उन्होंने कहा कि नियोजन इकाई के माध्यम से मेधा सूची तैयार की जाएगी जिसके बाद शिक्षकों की नियुक्ति होगी। 

विस्तार

बिहार की राजधानी पटना में शिक्षक नियुक्ति की मांग को लेकर सैकड़ों अभ्यर्थियों ने शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव किया। बिहार में शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी एसटीईटी (STET) पास करने वाले उम्मीदवार अपनी नियुक्ति और अन्य मांगों को लेकर मंगलवार को भारी संख्या में शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव करने सड़कों पर उतरे। जब पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की तो वह नहीं माने, उसके बाद पुलिस ने अभ्यर्थियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। अभ्यर्थी जैसे ही शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी के आवास की ओर बढ़ रहे थे कि उसी दौरान सचिवालय के पास पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। इसमें कई छात्र घायल हो गए। इस मामले पर राजनीति भी शुरू हो गई है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने लाठीचार्ज का विरोध किया है। वहीं शिक्षा मंत्री ने तेजस्वी के बयान पर पलटवार किया है। 

तेजस्वी ने नीतीश पर साधा निशाना

तेजस्वी यादव ने उम्मीदवारों पर हुए लाठीचार्ज की घटना की निंदा की। साथ ही नीतीश कुमार पर निशाना साधा। तेजस्वी ने कहा कि यह लाठी वाली सरकार है जो छात्रों के खिलाफ तानाशाही रवैया अपना रही है।  यह सरकार युवाओं का जीवन बर्बाद करने में जुटी है। तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर कई आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को लोगों से कोई लेना देना नहीं है, सिर्फ वह अपना देख रहे हैं। यही कारण है कि युवा जब अपना अधिकार मांग रहे हैं तो उन पर डंडा चलाया जा रहा है और नीतीश कुमार भीष्म पितामह बनकर बैठे हुए हैं।

शिक्षा मंत्री ने विपक्ष पर बोला हमला

तेजस्वी यादव के बयान के तुरंत बाद बिहार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने चुप्पी तोड़ी। शिक्षा मंत्री ने विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि बिहार में एसटीईटी अभ्यर्थियों को कुछ लोग गुमराह कर रहे हैं, जबकि यह पहले ही बताया गया है कि उनकी पात्रता हमेशा के लिए बरकरार रहेगी।  शिक्षा मंत्री ने कहा कि एसटीईटी की परीक्षा जितने छात्रों ने पास की है वो शिक्षक बनने के लिए अधिकृत हैं। उन्होंने कहा कि जो मेरिट लिस्ट निकाला गया है वह पात्रता का मेरिट लिस्ट था ना की नियुक्ति की। शिक्षा मंत्री ने अभ्यर्थियों से अपील की कि वह किसी भी तरह के बहकावे में नहीं आएं। उन्होंने कहा कि नियोजन इकाई के माध्यम से मेधा सूची तैयार की जाएगी जिसके बाद शिक्षकों की नियुक्ति होगी। 

Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply