ताजा समाचार बिहार

लोजपा में संग्राम: पशुपति पारस का पार्टी पर कब्जा, निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष बने, चिराग बोले- पटना बैठक अवैधानिक

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना
Published by: सुरेंद्र जोशी
Updated Thu, 17 Jun 2021 08:07 PM IST

सार

आखिरकार लोक जनशक्ति पार्टी पर स्व. रामविलास पासवान के अनुज पशुपति पारस का कब्जा हो गया। पटना में हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में उन्हें निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया। उधर पासवान के पुत्र चिराग पासवान ने इस बैठक को अवैधानिक बताया है। देखना होगा कि अब चिराग आगे क्या कदम उठाते हैं। 

ख़बर सुनें

बिहार में दलित नेता स्व. रामविलास पासवान द्वारा स्थापित लोजपा उनके पुत्र चिराग पासवान के हाथ से फिसल गई। पासवान के छोटे भाई पशुपति पारस को पटना में हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया। इसके बाद चिराग पासवान ने कार्यकारिणी की बैठक को अवैधानिक बताते हुए इसमें कोरम नहीं होने का दावा किया है। देखना होगा कि अब चिराग आगे क्या कदम उठाते हैं। 

पटना में हुई बैठक राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पशुपति पारस को लोजपा का निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया। लोजपा कार्यालय में इसकी औपचारिक घोषणा भी कर दी गई। अध्यक्ष बनने के बाद पारस ने अपने भतीजे चिराग पासवान पर निशाना साधा। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पशुपति पारस के नाम पर सांसदों ने एकमत से सहमति जताई। 

तीन घंटे चली बैठक, 71 सदस्यों ने एकमत से समर्थन किया
इससे पहले लोजपा नेता सूरजभान सिंह के पटना के कंकड़बाग टीवी टॉवर स्थित उनके आवास पर चार घंटे से अधिक बैठक हुई। इसमें 10 प्रस्तावकों ने पशुपति पारस का नाम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए रखा। सूरजभान सिंह ने कहा कि पशुपति पारस को पार्टी का निर्विरोध अध्यक्ष चुन लिया गया है। बृहस्पतिवार की सुबह 11 बजे से 3 बजे तक चली कार्यकारिणी की बैठक में यह फैसला लिया गया। 71 सदस्यों ने एक मत से समर्थन दिया है। 

भतीजा तानााशाह हो जाएगा तो चाचा क्या करेगा : पशुपति
पार्टी की कमान संभालने के बाद पशुपति पारस ने चिराग पासवान पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भतीजा तानाशाह हो जाएगा तो चाचा क्या करेगा। पार्टी प्रजातंत्र से चलती है और प्रजातंत्र है कोई जिंदगी भर अध्यक्ष नहीं रह सकता। 

लोजपा कार्यालय जाकर पासवान की तस्वीर पर माल्यार्पण किया
अध्यक्ष बनने के बाद पशुपति पारस पांचों सांसदों और अन्य नेताओं के साथ पटना के लोजपा कार्यालय पहुंचे। वहां पर दिवंगत नेता और बड़े भाई रामविलास पासवान और रामचंद्र पासवान की तस्वीर पर माल्यार्पण किया। 

बड़े भाई के सपने को पूरा करूंगा
पशुपति पारस ने कहा कि मेरी पार्टी के लोगों ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी हैं, मैं भरोसा दिलाता हूं कि पार्टी और जनता का विश्वास कभी नहीं टूटेगा। इस दौरान पशुपति पारस ने बड़े भाई रामविलास पासवान का भी जिक्र किया। पारस ने कहा कि बड़े भाई का सपना था कि समाज में गिरे तबके के लोगों के जीवनयापन में बदलाव लाना है, बड़े भाई का सपना पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास करूंगा। 

विस्तार

बिहार में दलित नेता स्व. रामविलास पासवान द्वारा स्थापित लोजपा उनके पुत्र चिराग पासवान के हाथ से फिसल गई। पासवान के छोटे भाई पशुपति पारस को पटना में हुई पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया। इसके बाद चिराग पासवान ने कार्यकारिणी की बैठक को अवैधानिक बताते हुए इसमें कोरम नहीं होने का दावा किया है। देखना होगा कि अब चिराग आगे क्या कदम उठाते हैं। 

पटना में हुई बैठक राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पशुपति पारस को लोजपा का निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया। लोजपा कार्यालय में इसकी औपचारिक घोषणा भी कर दी गई। अध्यक्ष बनने के बाद पारस ने अपने भतीजे चिराग पासवान पर निशाना साधा। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पशुपति पारस के नाम पर सांसदों ने एकमत से सहमति जताई। 

तीन घंटे चली बैठक, 71 सदस्यों ने एकमत से समर्थन किया

इससे पहले लोजपा नेता सूरजभान सिंह के पटना के कंकड़बाग टीवी टॉवर स्थित उनके आवास पर चार घंटे से अधिक बैठक हुई। इसमें 10 प्रस्तावकों ने पशुपति पारस का नाम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए रखा। सूरजभान सिंह ने कहा कि पशुपति पारस को पार्टी का निर्विरोध अध्यक्ष चुन लिया गया है। बृहस्पतिवार की सुबह 11 बजे से 3 बजे तक चली कार्यकारिणी की बैठक में यह फैसला लिया गया। 71 सदस्यों ने एक मत से समर्थन दिया है। 

भतीजा तानााशाह हो जाएगा तो चाचा क्या करेगा : पशुपति

पार्टी की कमान संभालने के बाद पशुपति पारस ने चिराग पासवान पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भतीजा तानाशाह हो जाएगा तो चाचा क्या करेगा। पार्टी प्रजातंत्र से चलती है और प्रजातंत्र है कोई जिंदगी भर अध्यक्ष नहीं रह सकता। 

लोजपा कार्यालय जाकर पासवान की तस्वीर पर माल्यार्पण किया

अध्यक्ष बनने के बाद पशुपति पारस पांचों सांसदों और अन्य नेताओं के साथ पटना के लोजपा कार्यालय पहुंचे। वहां पर दिवंगत नेता और बड़े भाई रामविलास पासवान और रामचंद्र पासवान की तस्वीर पर माल्यार्पण किया। 

बड़े भाई के सपने को पूरा करूंगा

पशुपति पारस ने कहा कि मेरी पार्टी के लोगों ने बड़ी जिम्मेदारी सौंपी हैं, मैं भरोसा दिलाता हूं कि पार्टी और जनता का विश्वास कभी नहीं टूटेगा। इस दौरान पशुपति पारस ने बड़े भाई रामविलास पासवान का भी जिक्र किया। पारस ने कहा कि बड़े भाई का सपना था कि समाज में गिरे तबके के लोगों के जीवनयापन में बदलाव लाना है, बड़े भाई का सपना पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास करूंगा। 

Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply