ताजा समाचार बिहार

जनसंख्या नियंत्रण: नीतीश विरोध में, उपेंद्र कुशवाहा ने किया समर्थन, बोले- बिहार में इसकी जरूरत

मोतिहारी. जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा लाये गये जनसंख्या नियंत्रण कानून (Population Control Act) का समर्थन किया है. उन्होंने सुशासन राज में पुलिस की कार्यशैली पर कोर्ट द्वारा लिए गए संज्ञान पर हामी भरते हुए दबी जुबान से इसका समर्थन किया. लेकिन साथ ही सुशासन की भी सराहना की. पिछले दो दिन से बिहार (Bihar) का दौरा कर रहे उपेन्द्र कुशवाहा रविवार को मोतिहारी में थे. यहां उन्होंने वैसे परिवारों से मुलाकात की जिनके कोई सदस्य कोरोना महामारी के शिकार हो गए. बाद में उन्होंने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का जायजा लिया.

सोमवार को मोतिहारी नगर के जिला अतिथि गृह में कुशवाहा ने नीतीश सरकार के चलाए जा रहे योजनाओं को मीडिया के सामने रखा. उन्होंने योगी सरकार के उत्तर प्रदेश में लागू किये गए जनसंख्या नियंत्रण कानून का समर्थन करते हुए कहा कि समय के अनुसार बिहार में भी इसकी आवश्यकता बढ़ गयी है. क्योंकि जिस तरह से आबादी बढ़ रही है उसका असर विकास पर दिखेगा. राज्य सरकार को भी परामर्श कर इस कानून को लागू करने की आवश्यकता है.

सुशासन राज में पुलिस की कार्यशैली पर कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए प्रश्नचिन्ह खड़ा किया है इसके सवाल पर उपेंद्र कुशवाहा ने कोर्ट की बातों का तो समर्थन किया लेकिन साथ में वो अपने नेता नीतीश कुमार का बचाव भी करते दिखे. इस मुद्दे पर कुशवाहा ने कहा कि राज्य में सुशासन की सरकार चल रही है. अपराधी चाहे कोई हो, या कितना भी बड़ा क्यों न हो, सलाखों के पीछे जाता है और जायेगा ही.

CM नीतीश ने महिलाओं को शिक्षित होना जरूरी बताया

वहीं, जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अलग राय दी है. पटना में सोमवार को जनता दरबार में उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से बढ़ती जनसंख्या एक बड़ी समस्या है. जनसंख्या नियंत्रण के लिए जरूरी है कि महिलाएं शिक्षित हों. उनकी सरकार इस दिशा में काम कर रही है जिससे कहा जा सकता है कि वर्ष 2040 तक बिहार में जनसंख्या वृद्धि की समस्या पर काबू पा लिया जाएगा.

Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: