ताजा समाचार

कोरोना संकट में भारत को रेमडेसिविर भी भेज रहा अमेरिका, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बताया

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कोहराम मचाने के बीच अमेरिका मदद के लिए आगे आया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कोरोना संकट पर बातचीत करने के बाद जो बाइडन ने बताया कि अमेरिका कई जरूरी मेडिकल उपकरण भेज रहा है। साथ ही अमेरिका कोरोना मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन भी भेजेगा। मालूम हो कि देश में पिछले दो हफ्तों से जिन चीजों की सबसे ज्यादा कमी देखी जा रही है, उनमें रेमडेसिविर इंजेक्शन भी शामिल है। मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन पाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक सवाल का जवाब देते हुए बताया, ”मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ लंबी बातचीत की। हम बीमारी से लड़ने और उससे ठीक होने में मदद करने के लिए रेमडेसिविर और अन्य दवाओं के साथ तुरंत जरूरी चीजें भेज रहे हैं।” उन्होंने आगे कहा कि हम वैक्सीन के लिए जरूरी सामान को भी भेज रहे हैं। मैंने उनके (पीएम मोदी) साथ चर्चा की कि कब हम वास्तविक वैक्सीन भेज सकेंगे, जो करने का मेरा इरादा है।

कोरोना की पहली लहर के दौरान भारत द्वारा की गई अमेरिका की मदद को याद करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि जब शुरुआती समय में हम मुश्किल में थे, तब भारत ने हमारी मदद की थी। बता दें कि पिछले साल महामारी के समय भारत ने अमेरिका की मदद करने के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरक्वीन के एक्सपोर्ट पर लगी पाबंदी को खत्म कर दिया था और फिर दवाएं अमेरिका भेजी थीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सोमवार को फोन पर बातचीत के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत की गति से मदद करने का संकल्प लिया था। व्हाइट हाउस ने बताया था कि बाइडन ने मोदी से कहा कि अमेरिका और भारत कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में निकटता से मिलकर काम करेंगे।

व्हाइट हाउस ने फोन पर हुई बातचीत की जानकारी मुहैया कराते हुए कहा कि राष्ट्रपति ने कोविड-19 मामलों में हालिया बढ़ोतरी से प्रभावित भारत के लोगों को अमेरिका की ओर से लगातार समर्थन दिए जाने का संकल्प लिया। अमेरिका ऑक्सीजन संबंधी आपूर्ति, टीके संबंधी सामग्री और चिकित्सा संबंधी सामग्री समेत आपात सहायता मुहैया करा रहा है।

बातचीत के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट कर बताया था कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ बहुत ही सार्थक बात हुई। हमने दोनों देशों में कोविड-19 से उत्पन्न स्थिति पर विस्तार से चर्चा की। भारत को सहयोग के लिए मैंने राष्ट्रपति बाइडन का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा, ”राष्ट्रपति बाइडन से मेरी चर्चा में टीका संबंधी कच्चे माल और दवाओं की सुचारू आपूर्ति श्रृंखला की महत्ता को भी रेखांकित किया गया। भारत-अमेरिका के बीच स्वास्थ्य देखभाल सहयोग विश्व की कोविड-19 की चुनौतियों का समाधान कर सकता है।”

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: