.wpmm-hide-mobile-menu{display:none}
ताजा समाचार बिहार

बिहार की सियासत में दो भतीजे कौन हैं, जिन्हें उपेंद्र कुश्वाहा ने दी नसीहत

उपेन्द्र कुशवाहा (फाइल फोटो)

उपेन्द्र कुशवाहा (फाइल फोटो)

लोजपा में बड़ी टूट के बाद बिहार की सियासत गरमा गई है. राजनीतिक बयानबाजी का दौर भी शुरू हो गया है और साथ ही दावे-प्रतिदावे का खेल भी तेज हो गया है, लेकिन जेडीयू के वरिष्ठ नेता उपेन्द्र कुशवाहा ने बड़ा बयान देते हुए राजनीति को और गर्मा दिया है.

पटना. लोजपा में बड़ी टूट के बाद बिहार (bihar) की सियासत गरमा गई है. राजनीतिक बयानबाजी का दौर भी शुरू हो गया है और साथ ही दावे-प्रतिदावे का खेल भी तेज हो गया है, लेकिन जेडीयू के वरिष्ठ नेता उपेन्द्र कुशवाहा ने बड़ा बयान देते हुए राजनीति को और गरमा दिया है. उपेन्द्र कुशवाहा ने लोजपा की टूट के लिए जेडीयू के ऊपर लग रहे आरोप पर सफाई देते हुए कहा कि लोजपा परिवार की पार्टी थी. अब भी यही दिख रहा है कि चाचा-भतीजे में मामला कितना गरमा गया है. अब परिवार के अंदर किसी विवाद में दूसरे पर आरोप लगा देना सही नहीं है. अपना घर संभलता नहीं है तो दूसरे पर आरोप लगा देते हैं.

उन्होंने कहा, “फिलहाल बिहार में जो दो सो कॉल्ड भतीजा हैं, जो अपने को नेता और पार्टी का मालिक समझते हैं. उनका जो रवैया है, उसमें तो ऐसा होना ही था.” कुशवाहा ने इशारों में तेजस्वी पर भी हमला बोलते हुए ये भी कहा कि जो लोग नहीं संभलेंगे, आगे उन्हें भी ऐसा ही भुगतना होगा. उपेन्द्र कुशवाहा से जब ये सवाल पूछा गया कि क्या नजर आरजेडी पर भी है, तो उन्होंने  कहा कि ये राजनीतिक लोग हैं. हम लोग को ऐसी घटनाओं पर नजर तो रखनी ही होती है और हमारी नजर भी है. जब उनसे ये सवाल पूछा गया कि इस जवाब का मतलब क्या समझा जाए कि कुशवाहा की नजर है ? इस पर उन्होंने कहा कि थोड़ा इंतजार कीजिए और देखिए आगे -आगे क्या होता है.

उपेन्द्र कुशवाहा ने महागठबंधन के सम्पर्क में भी जेडीयू के विधायक होने की बात पर कहा कि जो लोग भी ऐसा दावा कर रहे हैं वो अपने आप को धोखा दे रहे है. उन्हें भी पता है कि सच्चाई क्या है. जेडीयू पूरी तरह से एकजुट है. कुछ दिन पहले तक चिराग पासवान भी दावा कर रहे थे कि नीतीश कुमार को किसी भी कीमत पर मुख्यमंत्री नहीं बनने देंगे. उनका क्या हश्र हुआ ये दुनिया देख रही है. अब जो लोग फिर से जेडीयू को लेकर दावा कर रहे हैं उनका भी अंजाम कुछ ऐसा ही न हो जाए इसका ख्याल रखें.

वहीं राजद के वरिष्ठ नेता और विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि लोजपा को तोड़कर जेडीयू को कोई फायदा नहीं होगा, क्योंकि चिराग पासवान जिधर रहेंगे रामविलास पासवान के वोटर उधर ही रहेंगे. जेडीयू को अपना विधायक भी बचाकर रखना होगा. पता नहीं कब क्या हो जाए. बस थोड़ा सा इंतजार कर लीजिए. लालू यादव को बिहार आने दीजिए, सब पता चल जाएगा.





Follow Me:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: